कांचीपुरम इडली रेसिपी | kanchipuram idli in hindi | कोविल इडली | कांची इडली

इस पोस्ट अन्य भाषा में उपलब्ध है अंग्रेज़ी (English)

कांचीपुरम इडली रेसिपी | कोविल इडली | कांची इडली विस्तृत फोटो और वीडियो रेसिपी के साथ। तड़का किया हुआ इडली बैटर को केले के पत्ते में डालकर भाप दे कर बनाया गया एक प्रामाणिक और पारंपरिक इडली रेसिपी। यह तमिल व्यंजनों से बना है, लेकिन विशेष रूप से तमिलनाडु के कांचीपुरम शहर से संबंधित है। यह आम तौर पर दक्षिण भारतीय मंदिरों में प्रसादम के रूप में परोसा जाता है, लेकिन चटनी और सांभर के विकल्प के साथ सुबह के नाश्ते के रूप में भी परोसा जा सकता है।
कांचीपुरम इडली रेसिपीकांचीपुरम इडली रेसिपी | कोविल इडली | कांची इडली स्टेप बाइ स्टेप फोटो और वीडियो रेसिपी के साथ। दक्षिण भारतीय नाश्ते के व्यंजनों में मुख्य रूप से चावल के साथ बने असंख्य विकल्प हैं। आम तौर पर यह डोसा और इडली के व्यंजनों और इसके विविधताओं को वही चावल और उड़द दाल के बैटर के साथ बनायी जाती है। ऐसा ही एक पारंपरिक विविधता रेसिपी है कांचीपुरम इडली रेसिपी, जो तमिलनाडु के कांची शहर से संबंधित है।

मुझे लगता है कि अब आप सोच रहे होंगे कि इस कांचीपुरम इडली रेसिपी में क्या खास है? साथ ही आपने देखा होगा कि इडली का रंग अन्य पारंपरिक इडली व्यंजनों की तुलना में थोड़ा गहरा होता है। जीरा, काली मिर्च और करी पत्तों के मसाले से गहरा रंग आता है। इसके अलावा, इडली को विशेष रूप से मन्थराई के पत्तों से बनाए गए कंटेनर में रख कर भाप दिया जाता है। जब इडली इन पत्तों के साथ स्टीम्ड होता है पत्तियां इडली पर बहुत अच्छा प्रभाव डालती हैं। यह कहने के बाद कि इस रेसिपी पोस्ट में मैंने केले के पत्तों का इस्तेमाल किया है जो इसे एक बेहतरीन विकल्प माना जाता है। इसके अतिरिक्त केले के पत्तों का अपना अलग स्वाद के कारण उपयोग किया है और इसलिए यह आपको कभी भी निराश नहीं करेगा।

कांचीपुरम इडली

इसके अलावा, मैं इस कांचीपुरम इडली रेसिपी के लिए कुछ सुझावों और विविधताओं पर प्रकाश डालना चाहूंगी। सबसे पहले, जैसा कि मैंने पहले उल्लेख किया है कि मैंने इस रेसिपी के लिए केले के पत्तों का उपयोग किया है क्योंकि मैं मेंथराई के पत्तों तक पहुंच नहीं बना पा रही थी। लेकिन अगर आपके पास इसकी पहुँच है, तो आपको इस रेसिपी को आजमाना चाहिए। दूसरी बात, मैंने इडली बैटर तैयार करते समय इडली चावल और कच्चा चावल के संयोजन का उपयोग किया है। लेकिन अन्य चावल जैसे, आधा उबले चावल, सोना मसूरी चावल भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अंत में, आप इडली को एक व्यापक कटोरे में या यहां तक ​​कि केले के पत्तों के साथ केक पैन में भी भाप दे सकते हैं। यह केक को पकाने के जैसा ही होता है और इसका आकार एक समान होता है।

अंत में, मैं आपसे कांचीपुरम इडली रेसिपी की इस पोस्ट के साथ मेरी अन्य इडली रेसिपी कलेक्शन की जाँच करने का अनुरोध करती हूँ। इसमें रवा इडली, ओट्स इडली, कोट्टे कडुब, तट्टे इडली, इडली विथ इडली रवा, ब्रेड इडली, मल्लिगे इडली और रागी इडली रेसिपी जैसी रेसिपी शामिल हैं। इसके अलावा, मेरे ब्लॉग से मेरे अन्य संबंधित व्यंजनों के संग्रह पर जाएँ, जैसे,

कांचीपुरम इडली वीडियो रेसिपी:

street food recipes[sp_wpcarousel id="55071"]

कांचीपुरम इडली रेसिपी के लिए रेसिपी कार्ड:

kanchipuram idli recipe

कांचीपुरम इडली रेसिपी | kanchipuram idli in hindi | कोविल इडली | कांची इडली

0 from 0 votes
तैयारी का समय: 10 minutes
पकाने का समय: 20 minutes
कुल समय: 30 minutes
कितने लोगों के लिए: 15 इडली
AUTHOR: HEBBARS KITCHEN
कोर्स: इडली
पाक शैली: तमिल नाडु
कीवर्ड: कांचीपुरम इडली रेसिपी
प्रिन्ट रेसिपी पिन रेसिपी
आसान कांचीपुरम इडली रेसिपी | kanchipuram idli in hindi | कोविल इडली | कांची इडली

सामग्री

इडली बैटर के लिए:

  • 1 कप इडली चावल
  • 1 कप कच्चा चावल
  • ¼ टी स्पून मेथी
  • 1 कप उड़द की दाल

अन्य सामग्री:

  • 2 टेबल स्पून जिंजल्ली तेल
  • ½ टी स्पून जीरा, पीसा हुआ
  • 1 टी स्पून काली मिर्च, पीसा हुआ
  • चुटकी हिंग
  • 5  काजू, कटा हुआ
  • कुछ करी पत्ते
  • ½ टी स्पून अदरक पाउडर
  • 1 टी स्पून नमक
  • कप केले का पत्ता / मन्थराई पत्ता

अनुदेश

इडली बैटर रेसिपी:

  • सबसे पहले, एक बड़े कटोरे में 1 कप इडली चावल, 1 कप कच्चा चावल और ¼ टीस्पून मेथी को 5 घंटे के लिए भिगोएँ।
  • एक और कटोरी में 5 घंटे के लिए 1 कप उड़द की दाल भिगोएँ।
  • पानी से निकाल कर उड़द दाल को ब्लेंडर या ग्राइंडर में स्थानांतरित करें।
  • आवश्यकतानुसार पानी डालते हुए मिश्रण को चिकना और फुज्जीदार घोल होने तक ब्लेंड करें।
  • उड़द दाल के बैटर को एक बड़े बाउल में स्थानांतरित करें।
  • भिगोये हुए चावल को ब्लेंडर में छान लें।
  • मोटे बैटर (रवा की तरह स्थिरता) के लिए मिश्रण को आवश्यकतानुसार पानी मिलाते हुए ब्लेंड करें।
  • चावल के बैटर को एक ही मिश्रण के कटोरे में स्थानांतरित करें।
  •  मिश्रण को अच्छी तरह से मिलाएं और सुनिश्चित करें कि चावल के बैटर और उड़द दाल के बैटर अच्छी तरह से संयुक्त है।
  •  ख़मीरीकरण के लिए गरम जगह में 8 घंटे के लिए या जब तक बैटर दोगुना न हो जाए तब तक ढक कर रखें।
  • अगले दिन, एयर पॉकेट को परेशान किए बिना धीरे से बैटर को मिलाएं। एक तरफ रख दें।

 तड़का इडली बैटर:

  • एक छोटी कड़ाई में 2 टेबलस्पून गिंगेली तेल गरम करे और ½ टीस्पून जीरा, 1 टीस्पून काली मिर्च, चुटकी हिंग और 5 काजू को छिड़काएं।
  • इडली बैटर के ऊपर तड़का डालें।
  • इसके बाद, ½ टीस्पून अदरक पाउडर और 1 टीस्पून नमक डालें।
  • मिश्रण को धीरे से मिलाएं सुनिश्चित करें कि बैटर अच्छी तरह से संयुक्त है।
  • अब केले के पत्ते को हल्का सा गरम कर लें ताकि उसे लचीला बनाया जा सके। आप वैकल्पिक रूप से मन्थराई पत्ती कप का उपयोग कर सकते हैं।
  • थोड़ा मोड़ो और एक छोटे कप में रखें। कप को जिंजेली तेल से चिकना करें।
  • तैयार काँचीपुरम इडली बैटर को प्यालों में ¾ तक भरें।
  • कप को स्टीमर में रखें और 20 मिनट के लिए भाप दें।
  • अंत में, चटनी और सांभर के साथ कांचीपुरम इडली का आनंद लें।
क्या आपने यह नुस्खा आजमाया?अगर किया तोह एक तस्वीर क्लिक करें और इंस्टाग्राम या ट्विटर पर @hebbars.kitchen या टैग #hebbarskitchen का उल्लेख करें
हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करेहमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और हमारे लेटेस्ट वीडियो रेसिपी के साथ अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें

स्टेप बाइ स्टेप के साथ कांची इडली कैसे बनाएं:

इडली बैटर रेसिपी:

  1. सबसे पहले, एक बड़े कटोरे में 1 कप इडली चावल, 1 कप कच्चा चावल और ¼ टीस्पून मेथी को 5 घंटे के लिए भिगोएँ।
  2. एक और कटोरी में 5 घंटे के लिए 1 कप उड़द की दाल भिगोएँ।
  3. पानी से निकाल कर उड़द दाल को ब्लेंडर या ग्राइंडर में स्थानांतरित करें।
  4. आवश्यकतानुसार पानी डालते हुए मिश्रण को चिकना और फुज्जीदार घोल होने तक ब्लेंड करें।
  5. उड़द दाल के बैटर को एक बड़े बाउल में स्थानांतरित करें।
  6. भिगोये हुए चावल को ब्लेंडर में छान लें।
  7. मोटे बैटर (रवा की तरह स्थिरता) के लिए मिश्रण को आवश्यकतानुसार पानी मिलाते हुए ब्लेंड करें।
  8. चावल के बैटर को एक ही मिश्रण के कटोरे में स्थानांतरित करें।
  9. मिश्रण को अच्छी तरह से मिलाएं और सुनिश्चित करें कि चावल के बैटर और उड़द दाल के बैटर अच्छी तरह से संयुक्त है।
  10. ख़मीरीकरण के लिए गरम जगह में 8 घंटे के लिए या जब तक बैटर दोगुना न हो जाए तब तक ढक कर रखें।
  11. अगले दिन, एयर पॉकेट को परेशान किए बिना धीरे से बैटर को मिलाएं। एक तरफ रख दें।
    कांचीपुरम इडली रेसिपी

 तड़का इडली बैटर:

  1. एक छोटी कड़ाई में 2 टेबलस्पून गिंगेली तेल गरम करे और ½ टीस्पून जीरा, 1 टीस्पून काली मिर्च, चुटकी हिंग और 5 काजू को छिड़काएं।
  2. इडली बैटर के ऊपर तड़का डालें।
  3. इसके बाद, ½ टीस्पून अदरक पाउडर और 1 टीस्पून नमक डालें।
  4. मिश्रण को धीरे से मिलाएं सुनिश्चित करें कि बैटर अच्छी तरह से संयुक्त है।
  5. अब केले के पत्ते को हल्का सा गरम कर लें ताकि उसे लचीला बनाया जा सके। आप वैकल्पिक रूप से मन्थराई पत्ती कप का उपयोग कर सकते हैं।
  6. थोड़ा मोड़ो और एक छोटे कप में रखें। कप को जिंजेली तेल से चिकना करें।
  7. तैयार काँचीपुरम इडली बैटर को प्यालों में ¾ तक भरें।
  8. कप को स्टीमर में रखें और 20 मिनट के लिए भाप दें।
  9. अंत में, चटनी और सांभर के साथ कांचीपुरम इडली का आनंद लें।

टिप्पणियाँ:

  • सबसे पहले, बैटर को अच्छी तरह से ख़मीरीकरण करें, नहीं तो इडली नरम नहीं होगा।
  • इसके अलावा, अगर आप जिंजल्ली तेल के स्वाद को पसंद नहीं करते हैं, तो घी से बदलें।
  • इसके अतिरिक्त, बैटर को एक बड़े कटोरे में स्टीम किया जा सकता है और परोसते समय स्लाइस में काटा जा सकता है।
  • अंत में, कांचीपुरम इडली रेसिपी या कोविल इडली रेसिपी स्वाद में लाजवाब होती है जब इसे मन्थराई  पत्ती के कप में तैयार किया जाता है।
इस पोस्ट अन्य भाषा में उपलब्ध है अंग्रेज़ी (English)
related articles